क्रिकेट नहीं था मिताली राज का पहला ‘प्यार,’ भारतीय कप्तान के शादी नहीं करने के पीछे भी है खास कारण | Gawin Sports

क्रिकेट नहीं था मिताली राज का पहला ‘प्यार,’ भारतीय कप्तान के शादी नहीं करने के पीछे भी है खास कारण

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज के नाम ढेरों रिकॉर्ड हैं। उन्हें भारतीय महिला क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर भी कहा जाता है। वह क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में 20 हजार रन बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर हैं। ऐसे ही और भी कई रिकॉर्ड्स उनके नाम हैं। हालांकि, जिस खेल में उन्होंने अपना और देश का नाम ऊंचा किया है, वह स्पोर्ट्स उनका पहला प्यार नहीं था। मिताली राज अपने पिता की जिद के चलते क्रिकेटर बनीं। उन्हें तो नृत्य से प्रेम था।

मिताली राज बचपन से ही डांसर बनना चाहती थीं। वह भरतनाट्यम की ट्रेनिंग भी ले चुकी हैं। लेकिन उनकी किस्मत में क्रिकेट के क्षेत्र में परचम फहराना लिखा था। मिताली के बडे़ भाई भी क्रिकेटर हैं। बचपन में उनके भाई जब क्रिकेट की कोचिंग ले रहे होते थे, तब वह भी कभी-कभी हाथ आजमा लेती थीं। कहते हैं हीरे की परख जौहरी को ही होती है और मिताली नाम के इस हीरे के जौहरी थे क्रिकेटर ज्योति प्रसाद। मिताली जब 10 साल की थीं, तभी ज्योति प्रसाद ने उनकी प्रतिभा पहचान ली थी।

साल 1992 में हैदराबाद स्थित सेंट जॉन स्कूल में कोचिंग कैंप लगा था। दस साल की मिताली राज भी वहीं थीं। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद ज्योति प्रसाद पहली बार नेट्स में गेंदबाजी कर रहे थे। सामने थीं मिताली राज। मिताली राज उनकी गेंदों को बखूबी खेल रही थीं। ज्योति प्रसाद को उसी समय लग गया था कि आगे चलकर यह बच्ची देश का नाम रोशन करेगी। उन्होंने मिताली राज को क्रिकेट की नियमित ट्रेनिंग लेने की सलाह दी।

मिताली राज के पिता दोराई राज भी यही चाहते थे। शुरुआत में मिताली दोनों नाव पर सवार रहीं। मतलब वह क्रिकेट और डांस दोनों की प्रैक्टिस करतीं। लेकिन दोनों ही क्षेत्र प्रभावित होते थे, इसलिए पिता ने उन्हें क्रिकेट चुनने को कहा। बेटी का करियर बनाने के लिए मिताली राज की मां लीला राज ने अपनी नौकरी छोड़ दी। बेटी भी माता-पिता की उम्मीदों पर खरी उतरी और देश-दुनिया में अपना और भारत का नाम रोशन किया।

तीन दिसंबर 1982 को राजस्थान के जोधपुर में जन्मीं मिताली राज अब तक अविवाहित हैं। इतनी उम्र होने के बावजूद उनके शादी नहीं करने का कारण भी बहुत खास है। मिड-डे को दिए एक साक्षात्कार में मिताली ने यह राज खोला था।

मिताली राज से पूछा गया था, क्या आपके दिमाग में शादी का विचार आया? तब मिताली ने हंसते हुए कहा था, ‘बहुत समय पहले, जब मैं बहुत छोटी थी… तब यह विचार मेरे दिमाग में आया था…।’ अपनी हंसी को किसी तरह दबाते हुए मिताली ने कहा था, ‘लेकिन अब जब मैं विवाहित लोगों को देखती हूं तब यह विचार मेरे दिमाग में नहीं आता है। मैं सिंगल रहकर बहुत खुश हूं।’

मिताली ने 1999 में आयरलैंड के खिलाफ मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया। उन्होंने उस मैच में 114 रन की पारी खेली थी। साल 2002 में मिताली ने इंग्लैंड के खिलाफ मैच से टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया। उस मैच में उन्होंने 407 गेंद में 19 चौके की मदद से 214 रन बनाए थे। मिताली से पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा 209 रन बनाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया की केरन रोल्टन के नाम था।

The post क्रिकेट नहीं था मिताली राज का पहला ‘प्यार,’ भारतीय कप्तान के शादी नहीं करने के पीछे भी है खास कारण appeared first on Jansatta.



https://ift.tt/eA8V8J Buy Cricket Accessories Online From Gawin Sports, Jalandhar Punjab M- 7696890000

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने